जश्न-ए-शब में मेरी कभी जल न सका इश्क़ का दिया 😌


जश्न-ए-शब में मेरी कभी जल न सका इश्क़ का दिया,
वो अपनी अना में रही और मैंने अपने ग़मो को ज़िया।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Jashn-e-Shab Mein Meri Kabhi Jal Na Saka Ishq Ka Diya,
Woh Apni Anaa Mein Rehi Aur Maine Apne Gamon Ko Jiya.
Copy Tweet
Copied Successfully !

Leave a Comment