भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा


भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा,
हमारे दिल में कोई ख्वाब पल बैठा तो हंगामा,
अभी तक डूब कर सुनते थे सब किस्सा मोहब्बत का,
मैं किस्से को हकीकत में बदल बैठा तो हंगामा।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Bhramar Koi Kumudani Par Machal Baithha Toh Hangama,
Humare Dil Mein Koi Khwab Pal Baithha Toh Hangama,
Abhi Tak Doob Kar Sunte The Sab Kissa Mohabbat Ka,
Main Kisse Ko Hakiqat Mein Badal Baithha Toh Hangama.
Copy Tweet
Copied Successfully !

Leave a Comment