Uncategorized

Anjaane Logon se dosti shayari

ज़िंदगी की कशमकश मे गुम हुए रिश्ते
उजाला बनके फिर कहाँ से आजता है
कुछ ऐसे भी हैं जिनसे मिले बिना ही ऐसा याराना होजात है
सच ही है कभी अजनबी भी अपनों से ज्यादा करीब होजता है !

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top