जिंदगी फिर कभी न मुस्कुराई


जिंदगी फिर कभी न मुस्कुराई बचपन की तरह,
मैंने मिट्टी भी जमा की खिलोने भी लेकर देखे।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Zindagi Phir Kabhi Na Muskurai Bachpan Ki Tarha,
Maine Mitti Bhi Jama Ki Khilone Bhi Lekar Dekhe.
Copy Tweet
Copied Successfully !

Leave a Comment