शहर-ए-एहसास में पथराव बहुत हैं मोहसिन 😇


शहर-ए-एहसास में पथराव बहुत हैं मोहसिन,
दिल को शीशे के झरोखों में सजाया न करो।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Shahar-e-Ehsaas Mein Pathrav Bahut Hain Mohsin,
Dil Ko Sheeshe Ke Jharokhon Mein Sajaya Na Karo.
Copy Tweet
Copied Successfully !

Leave a Comment