रात भर सिसकते रहना बस इक शख्स की खातिर 😍


रात भर सिसकते रहना बस इक शख्स की खातिर,
इसे गर इश्क कहते हैं तो वल्लाह मेरी तौबा।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Raat Bhar Sisakte Rehna Bas Ek Shaks Ki Khatir,
Ise Gar Ishq Kehte Hain Toh Wallah Meri Tauba.
Copy Tweet
Copied Successfully !

यह भी देखे : Latest Shayari

Leave a Comment