मुझको ख़्वाहिश ही ढूढ़ने की न थी 😕


मुझको ख़्वाहिश ही ढूढ़ने की न थी,
मुझ में खोया रहा ख़ुदा मेरा।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Mujhko Khwahish Hi Dhundhne Ki Na Thi,
Mujh Mein Khoya Raha Khuda Mera.
Copy Tweet
Copied Successfully !

यहाँ भी देखे : 2 line shayari

Leave a Comment