क्यूँ मेरी आवारगी पे ऊँगली उठाते हैं ☝️


क्यूँ मेरी आवारगी पे ऊँगली उठाते हैं जमाने वाले,
मैं तो आशिक हूँ और ढूंढता हूँ वफ़ा निभाने वाले।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Kyun Meri Aawargi Pe Ungli Uthate Hain Zamane Wale,
Main Toh Aashiq Hun Dhoondhta Hun Wafa Nibhane Wale.
Copy Tweet
Copied Successfully !

 

Leave a Comment