जमाने भर की रुसवाईयाँ और बेचैन रातें ☹️


जमाने भर की रुसवाईयाँ और बेचैन रातें,
ऐ दिल कुछ तो बता ये माजरा क्या है।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Jamaane Bhar Ki Ruswayian Aur Bechain Raatein,
Aye Dil Kuchh To Bata Ye Mazraa Kya Hai?
Copy Tweet
Copied Successfully !

Leave a Comment