जागना भी कबूल है ☹️


जागना भी कबूल है तेरी यादों में रात भर,
तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Jagna Bhi Kabool Hai Teri Yaadon Mein Raat Bhar,
Tere Ehsaason Mein Jo Sukoon Hai Woh Neid Mein Kahan.
Copy Tweet
Copied Successfully !

Leave a Comment