इश्क़ इक मीर भारी पत्थर है


इश्क़ इक मीर भारी पत्थर है,
कब ये तुझ ना-तवाँ से उठता है।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Ishq Ik Mir Bhari Patthar Hai,
Kab Yeh Tujh Na-Tawan Se UthhTa Hai.
Copy Tweet
Copied Successfully !

यह भी देखे : pyar bhari shayari 2018

Leave a Comment