2 line shayari - 2 लाइन शायरी

बेसबब इश्क़ में मरना तो मुझे मंज़ूर नहीं


बेसबब इश्क़ में मरना तो मुझे मंज़ूर नहीं,
शमा तो चाह रही है कि परवाना हो जाऊँ।
Click To Tweet

BeSabab Ishq Mein Marna Toh Mujhe Manzoor Nahi,
Shamaa Toh Chaah Rahi Hai Ki Parwana Ho Jaaun.
Click To Tweet
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top