2 line shayari - 2 लाइन शायरी

बचपन में तो शामें भी हुआ करती थी


बचपन में तो शामें भी हुआ करती थी,
अब तो बस सुबह के बाद रात हो जाती है।
Click To Tweet

Bachpan Mein Toh Shaamein Bhi Hua Karti Thi,
Ab Toh Bas Subah Ke Baad Raat Ho Jaati Hai.
Click To Tweet
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top