दूर रहकर भी जो समाया है ☹️


दूर रहकर भी जो समाया है,
मेरी रूह की गहराई में,
पास वालों पर वो शख्स,
कितना असर रखता होगा।
Copy Tweet
Copied Successfully !

Door Rahkar Bhi Jo Samaya Hai,
Meri Rooh Ke Gehrayi Mein,
Paas Walon Par Woh Shakhs,
Kitna Asar Rakhta Hoga.
Copy Tweet
Copied Successfully !

यह भी देखे : दुःख दर्द उदास शायरी

Leave a Comment