हमारी ज़िंदगी तो कब की बिखर गयी 💔

Hamari Zindagi To Kab Ki Bikhar Gayi,
Har Ek Hasrat Dil Mein Hi Mar Gayi,
Wo Jab Se Chal Di Baith Ke Doli Mein,
Humari To Jeene Ki Tamana Hi Mar Gayi. 💔

हमारी ज़िंदगी तो कब की बिखर गयी,
हसरते सारी दिल में ही मर गयी,
चल पड़ी वो जब से बैठ के डोली में,
हमारी तो जीने की तमन्ना ही मर गयी। 💔

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *