Ghalib Shayari - ग़ालिब शायरी

ये आरज़ू भी बड़ी चीज़ है मगर हमदम


ये आरज़ू भी बड़ी चीज़ है मगर हमदम,
विसाल-ए-यार फ़क़त आरज़ू की बात नहीं।
Click To Tweet

Yeh Aarzoo Bhi Badi Cheez Hai Magar Humdum,
Visaal-e-Yaar Faqat Aarzoo Ki Baat Nahi.
Click To Tweet
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

घर बैठे 2000 रुपये महीना कमाइए X
To Top