Ghalib Shayari - ग़ालिब शायरी

अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो 😇


अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है जमाना !!
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले मेरा नाम तो होने दो!!
Copy Tweet
Copied Successfully !

Abhi suraj nahi dooba zara si sham hone do,
Main khud hi laut jaunga mujhe nakam hone do,
Mujhe badnaam karne ke bahane dhundte ho kyun,
Main khud ho jaunga badnaam pahle naam hone do.
Copy Tweet
Copied Successfully !
1 Comment

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top